जानिए 2020 में इस दीपावली लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त, प्रदोष काल और शुभ चौघड़िया

जानिए 2020 में इस दीपावली लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त
Spread the love

दीपावली दीपों का त्यौहार है जिसमें मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा अर्चना की जाती है। यह हिंदू धर्म का एक प्रमुख पर्व है जिसमें दिवाली का विशेष महत्व होता है। दीपावली हिंदू धर्म के अलावा जैन बौद्ध और सिख धर्म के लोग भी मनाते हैं। आइए जानते हैं दीपावली की शुभ मुहूर्त और प्रदोष काल के बारे में, जिसका दीपावली में विशेष महत्व है।

दिवाली पर लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त –

साल 2020 में इस बार लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :17:30:04 से 19:25:54 तकअवधि :1 घंटे 55 मिनटप्रदोष काल :17:27:41 से 20:06:58 तकवृषभ काल :17:30:04 से 19:25:54 तक है।

दिवाली महानिशीथ काल मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :23:39:20 से 24:32:26 तकअवधि :0 घंटे 53 मिनटमहानिशीथ काल :23:39:20 से 24:32:26 तकसिंह काल :24:01:35 से 26:19:15 तक

दिवाली पर कब करें लक्ष्मी पूजा

  1. देवी लक्ष्मी का पूजन प्रदोष काल (सूर्यास्त के बाद के तीन मुहूर्त) में किया जाना चाहिए। प्रदोष काल के दौरान स्थिर लग्न में पूजन करना सर्वोत्तम माना गया है।
  2. महानिशीथ काल के दौरान भी पूजन का महत्व है लेकिन यह समय तांत्रिक, पंडित और साधकों के लिए ज्यादा उपयुक्त होता है।

दिवाली पर लक्ष्मी पूजा की विधि

दिवाली पर लक्ष्मी पूजा का विशेष विधान है। इस दिन संध्या और रात्रि के समय शुभ मुहूर्त में मां लक्ष्मी, विघ्नहर्ता भगवान गणेश और माता सरस्वती की पूजा और आराधना की जाती है। पुराणों के अनुसार कार्तिक अमावस्या की अंधेरी रात में महालक्ष्मी स्वयं भूलोक पर आती हैं और हर घर में विचरण करती हैं।

  1. दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन से पहले घर की साफ-सफाई करें और पूरे घर में वातावरण की शुद्धि और पवित्रता के लिए गंगाजल का छिड़काव करें। साथ ही घर के द्वार पर रंगोली और दीयों की एक शृंखला बनाएं।
  2. माता लक्ष्मी और गणेश जी की मूर्ति पर तिलक लगाएं और दीपक जलाकर जल, मौली, चावल, फल, गुड़, हल्दी, अबीर-गुलाल आदि अर्पित करें और माता महालक्ष्मी की स्तुति करें।

दिवाली पर क्या करें?

  1. कार्तिक अमावस्या यानि दीपावली के दिन प्रात:काल शरीर पर तेल की मालिश के बाद स्नान करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से धन की हानि नहीं होती है।
  2. दिवाली के दिन यह ध्यान रखना चाहिए कि बुजुर्गों और बच्चों को छोड़कर अन्य कोई भी व्यक्ति भोजन ना करें। शाम के समय महा लक्ष्मी और गणेश की पूजा होने के बाद ही भोजन करना उचित माना जाता है।

दीपावली का पर्व आध्यात्मिक और सामाजिक रुप से काफी धूमधाम से मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि दिवाली के दिन माता लक्ष्मी और गणेश की पूजा करने से सुख समृद्धि का आगमन होता है और सभी नकारात्मक विचारों का सर्वनाश होता है। माता लक्ष्मी की कृपा आप पर सदैव बनी रहती है और घर परिवार में खुशहाली का वातावरण होता है।

 

Current News Today

Current News Today: Hindi News (हिंदी समाचार) website, Latest News, Breaking News in Hindi of India, World Wide News, Sports, business, film, Health, Fashion, Kids and Current Affairs.

Read Previous

2020 के दौरान बॉलीवुड में एक और झटका जिसमें जाने-माने बॉलीवुड एक्टर आसिफ बसरा की हो गई मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *