रोग -प्रतिरोधक क्षमता क्या है (What is immunity power ?) और रोग – प्रतिरोधक क्षमता को कैसे असरदार बनाये

What is immunity power ?

रोग -प्रतिरोधक क्षमता क्या है और रोग – प्रतिरोधक क्षमता को कैसे असरदार बनाये

Spread the love

रोग -प्रतिरोधक क्षमता क्या है (What is immunity power?) और रोग – प्रतिरोधक क्षमता को कैसे असरदार बनाये |

What is immunity power ? रोग -प्रतिरोधक क्षमता क्या है ?

प्रतिरोधक क्षमता यानी किसी रोग से लड़ने की हमारी शारीरिक क्षमता। जिसे अंग्रेजी में इम्युनिटी कहा जाता है। हर मनुष्य की अपनी -अपनी प्रतिरोधक क्षमता होती है।  आम तौर पर कई छोटे मोटी बीमारियाँ हमें होती है जिससे हमारा शरीर खुद निपटने की पूरी कोशिश करता है , इसे इम्युनिटी पावर यानी प्रतिरोधक क्षमता कहते है। प्रतिरोधक क्षमता कई प्रकार के कीटाणु जैसे बैक्टीरिया और फंगस से होने वाली बीमारियों से लड़ता है। अगर आपकी इम्युनिटी शक्ति कम होती है , तब किसी भी प्रकार के रोग से आप ग्रस्त हो सकते है। आजकल के इस प्रदूषण वाले माहोल से झूझने के लिए प्रतिरोधक क्षमता का मज़बूत होना बहुत ज़रूरी है।  इसके लिए हमे अपने खान- पान का विशेष रूप से ध्यान रखना ज़रूरी है।

प्रतिरक्षा प्रणाली क्या है ? What is immune system?

मनुष्य की इम्यून सिस्टम यानी प्रतिरक्षा प्रणाली  में सेल्स , टिश्यू , प्रोटीन जैसे तत्व शामिल है। यही प्रतिरक्षा प्रणाली इंसानो को विभिन्न रोगो से लड़ने में मदद करती है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता का महत्व

रोग प्रतिरोधक क्षमता मनुष्य को शारीरिक और मानसिक रूप से मज़बूत रखती है।  अगर इम्युनिटी पावर मज़बूत तो आनेवाली पीढ़ी भी सेहतमन्द रहेगी। अगर प्रतिरोधक क्षमता सठिक ना हो तो इसका असर आने वाले पीढ़ी पर पड़ सकता है।

आज हम आपको how to increase immunity , how to increase immunity by food , how to increase immunity by home remedies , how to increase immunity in kids के विषय में बताएँगे।

कमज़ोर प्रतिरोधक क्षमता के कई अनगिनत कारण हो सकता है जैसे जन्म से होने वाली कुछ बीमारियाँ ,खान पान का ठीक से ध्यान ना रखना , पेट संबंधी समस्या  इत्यादि। आज हम इम्युनिटी पावर को कैसे और अधिक  विकसित कर सकते है , उसके बारें में हम आपको बताएँगे :

सुबह आप ग्रीन टी  का सेवन कर सकते है।  इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स होते है , जो हमेशा आपको एक्टिव रखता है और इम्युनिटी पावर को बढ़ाता है। ब्लैक टी  या तुलसी अदरक की चाय जिसका सेवन लोग बरसो से कर रहे है। यह निश्चित तौर पर आपको स्वस्थ रखता है और सर्दी खासी , बुखार जैसे बीमारियों से दूर रखता है।

स्वास्थ्य संबंधी कुछ समस्याएँ तब विकसित होती है जब हमारी रातों की नींद पूरी नहीं होती। नियमित रूप से   देर रात तक काम करना सेहत के लिए हानिकारक साबित होता है।   इम्युनिटी शक्ति को बढ़ाने के लिए हमें लगभग रात को सात घंटे सोना ज़रूरी है। सिगरेट और नशीले पदार्थों के सेवन से बचना बेहद आवश्यक है। कमज़ोर प्रतिरोधक क्षमता इन नशीले पदार्थों के सेवन करने के कारण होती है। अत्यधिक वजन सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। इसलिए हमारी यह जिम्मेदारी है कि हम अपने शरीर की बिलकुल अवहेलना ना करे।

How to increase immunity by home remedies

घरेलु नुस्खों से अपनी प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाए

news iimagessssssss

सुबह आप ग्रीन टी  का सेवन कर सकते है।  इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स होते है , जो हमेशा आपको एक्टिव रखता है और इम्युनिटी पावर को बढ़ाता है। ब्लैक टी  या तुलसी अदरक की चाय जिसका सेवन लोग बरसो से कर रहे है। यह निश्चित तौर पर आपको स्वस्थ रखता है और सर्दी खासी , बुखार जैसे बीमारियों से दूर रखता है |

news iimagessssssss 1

कच्चा लहसुन भी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार साबित हुआ है। एलिसिन, लहसुन में  मौजूद एक यौगिक, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद करता है । सबसे ज्यादा फायदा होता है जब आप  रोजाना कच्चे लहसुन की एक-एक कली खा सकते  है । यदि आप कच्चा लहसुन नहीं खा सकते हैं, तो आप लहसुन को थोड़ा भून कर खा सकते है।  हमेशा पौष्टिक भोजन खाना चाहिए जिसमे कैल्शियम ,आयरन और विभिन्न प्रकार के विटामिन का समावेश हो ।

news iimagessssssss 2

भोजन में  एंटीऑक्सिडेंट्स का  होना अनिवार्य है। एंटीऑक्सिडेंट्स कोशिकाओं को मज़बूत बनाते है।

 विटामिन a ,B2, B6, E ,D बीटा कैरोटीन इत्यादि प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत बनाती है। हमे ताज़ा सब्ज़ी जैसे पालक , गाजर , टमाटर , फूलगोभी , ब्राउन राइस , संतरा , दूध , दही जैसे समाग्री का सेवन अवश्य करना चाहिए।

news iimagessssssss 3

आप हल्दी वाली चाय पी सकते है। हल्दी और अदरक को उबाल कर और उसमे शहद मिलकर पी सकते है।  यह बेहद पुराना  घरेलु नुस्खा है जो आज भी प्रचलित है। अदरक सर्दी खासी में लाभदायक प्रमाणित हुआ है। तुलसी , अदरक ,काली मिर्च , लौंग का काढ़ा भी सर्दी खासी में बेहद लाभदायक है। आंवला पाउडर में शहद मिलाकर प्रत्येक दिन ले। इससे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

आजकल कोरोना संकटकाल चल रहा है , ऐसे में विटामिन सी युक्त भोजन करना अनिवार्य है।  जितनी मज़बूत प्रतिरोधक क्षमता मज़बूत होगी , रोगो से हम कोसो दूर रहेंगे। नीम्बू और आंवले का जूस प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि लाता है।

How to increase immunity by consuming food

हमेशा 10 गिलास से 15  ग्लास पानी अवश्य पिए।  पानी पीने से विषाक्त पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाती है। अगर आप लगातार बीमार पद रहे है तो इसका मतलब है , आपके शरीर में  एंटीबाडीज कम पैदा हो रही है।  आप प्रोटीन युक्त आहार अपने भोजन में ले। सर्दियों के मौसम में कई प्रकार के ताज़े फल और खासकर विटामिन सी युक्त खट्टे फल जैसे संतरा , मौसम्बी फलों का सेवन करे , इससे प्रतिरोधक क्षमता निश्चित रूप से बढ़ती है। इससे सर्दी जुकाम जैसी बीमारियाँ हमसे कोसो दूर रहती है। सर्दियों के मौसम में आप ताज़े सब्ज़ियों का सुप घर पर बनाकर पी सकते है , जो सर्दी  बुखार में लाभदायक होता है। एलॉपथी दवाईओं के लगातार सेवन से साइड इफेक्ट्स हो सकते है।  इसलिए आप होमियोपैथी दवाई ले सकते है।  सर्दी बुखार में होमियोपैथी दवाई फायदेमंद सिद्ध हुयी है और यह धीरे धीरे काम करता है , मगर बीमारियों को जड़ से मिटा देता है।

ब्रोकोली विटामिन सी का उम्दा स्रोत है।  इसमें ज़रूरी एंटीऑक्सिडेंट्स होते है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत बनाते है।

news iimagessssssss 4

रोज़ाना दही का उपभोग करना चाहिए।  दही पेट को ठंडा रखती है और खाना हज़म करने में फायदेमंद साबित होती है। नियमित ओट्स खाना फायदेमंद होता है , यह प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है।

मीठे आलू में बीटा कैरोटीन होते है और विटामिन ए का अच्छा स्रोत है।  यह हमारे त्वचा को स्वस्थ रखता है।

पालक में विटामिन सी और इ जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है।

तनाव से प्रतिरक्षा कम हो सकती है और आपको बीमारी होने का खतरा हो सकता है। जामुन, गाजर और पालक जैसे  फलों और सब्जियों में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो आपको stress  से बचाते हैं और मज़बूत प्रतिरक्षा प्रणाली का निर्माण करते है। अच्छी सोच और सकरकमक सोच के साथ अपने हर दिन की शुरुआत करे , इससे तनाव इत्यादि से आप दूर रहेंगे।

बाहर जॉगिंग करे और सूरज की रोशनी में थोड़ा समय व्यतीत करे , इससे आपको प्राकृतिक विटामिन डी प्राप्त होता है , जिससे प्रतिरोधक शक्ति का विकास होता है।

How to increase immunity in kids ? बच्चो में रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे बढ़ाए

बच्चे की सेहत को लेकर अक्सर माँ बड़ी चिंतित रहती है। बदलते मौसम के साथ बच्चो की तबीयत पर  असर पड़ता है।  कुछ बच्चे जल्दी ही बीमार पड़ जाते है। कारण है , बच्चो के वातावरण के आस पास बैक्टीरिया और वायरस मौजूद होते है , जिसके कारण वह जल्द ही बीमार पड़ जाते है। अगर बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है , तो निश्चित तौर पर हो संक्रमित हो जाते है। रोगप्रतिरोधक क्षमता भोजन और जीवन सैली पर निर्भर करती है। बच्चो में रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने के लिए हम आपको ज़रूरी उपाय बताने जा रहे है :

news iimagessssssss 5

माँ का दूध से बढ़कर बच्चो के लिए कोई पौष्टिक आहार नहीं हो सकता है। इसमें डेढ़ सारा प्रोटीन और एंटीबाडीज होता है जो बच्चो को रोग से लड़ने में मदद करता है। माँ  बच्चे को स्तनपान कराती है , तो उसकी प्रतिरोधक क्षमता मज़बूत होती है।  यह बच्चे को एलर्जी , बुखार और कई प्रकार के गंभीर परिणामो से मुक्ति दिलाता है। माँ का दूध बच्चे के  मस्तिष्क का विकास , कोलाइटिस जैसे बीमारियों से दूर रखता है।

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए बच्चो को संतुलित आहार दे।  जंक फ़ूड जैसे चीज़ों से बचे। बच्चो को सब , गाजर , केला , ब्रोकोली ,और हरी सब्जी खिलाएँ।  अगर आपका बच्चा छोटा है तो अवश्य उसे फल को जूस और उबली हुयी सब्ज़ी दे। जैसे बच्चो की उम्र होगी , उसके अनुसार उस फल और सब्जी दे। खाद्य समाग्री जिसमे भरपूर मात्रा में विटामिन्स हो , ऐसे आहार दे।

बच्चो को प्रयाप्त नींद की ज़रूरत होती है।  अगर बच्चे ठीक से नहीं सोते है , तो कई तरह की बीमारी उन्हें हो सकती है। एक छोटे शिशु को प्रत्येक दिन अठारह घंटे की नींद ज़रूरी है। बच्चो को कमरे में जब सुलाए तो ध्यान रखे कि उनका कमरा पूरी तरह से बंद ना हो।  प्रयाप्त नींद से तन में एंटीऑक्सिडेंट्स जन्म लेते है जिससे बच्चे बाकी के समय एक्टिव रहते है।  बच्चो को मोबाइल और  मोबाइल पर लगातार गेम्स खेलने से दूर रखे।

बच्चो को हमेशा घर पर रहने के लिए बाध्य ना करे। उन्होंने पार्क में घूमने के लिए ले जाए और उन्हें अपने उम्र के बच्चो से घुलने मिलने का मौक़ा दे।  खुले आकाश और मिटटी में खेलने से ना रोके।  इससे धीरे धीरे उनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

बच्चो को प्रत्येक दिन व्यायाम करने के लिए प्रोत्साहित करे।  उन्हें साइकिलिंग और स्वींमिंग करने  के लिए भेज सकते है।  ऐसे एक्टिविटीज करने से वह शारीरिक रूप से फिट रहेंगे।

अगर बच्चो में विटामिन डी की कमी पायी जाती है , तो इसे अनदेखी करनी चाहिए। अन्यथा गंभीर बिमारियों के चपेट में आने का खतरा बना रहता है। बच्चो को सुबह धुप में बाहर ले जाए।  अगर नवजात शिशु है , तो उसकी तेल मालिश करके भी थोड़ी देर धूप में रख सकते है , इससे विटामिन डी शरीर में उत्पन्न होती है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है।

बच्चो के आस पास साफ़ सफाई रखे और बच्चो को साफ़ सफाई का महत्व समझाए। बच्चो को अनावश्यक रूप से एंटीबायोटिक दवा ना पिलाये। इन दवाईओं पर ज़्यादा निर्भर होने से शरीर में साइड इफेक्ट्स हो सकते है। अतिरिक्त मात्रा में इन दवाईओं के इस्तेमाल से इम्युनिटी पावर कमज़ोर होने का खतरा रहता है। बच्चो को प्रोबिओटिक सम्पूर्ण खाद्य खिलाएँ जैसे दही।  यह पाचन शक्ति में मदद करता है और अच्छी बैक्टीरिया शरीर के इम्युनिटी को बेहतर बनाती है। छोटे बच्चो को रवा , दलिया , जूस इत्यादि पौष्टिक और सेहतमंद  आहार खिलाना चाहिए

बच्चो को हल्दी दूध दे और उसमे स्वाद के लिए थोड़ा शहद मिला सकते है।  नियमित रूप से बच्चो को तुलसी के पत्ते चबा कर खाने के लिए कहे।  इससे वे सर्दी जुकाम से दूर रहेंगे। बच्चो को सुबह एक चमच रोज़ाना  च्यवनप्राश खिलाये।  इससे निश्चित रूप से प्रतिरक्षा प्रणाली बेहतर होती है। बच्चो को जन्म के पश्चात टीकाकरण करवाना ज़रूरी है। बीसीजी वैक्सीन , पोलियो वैक्सीन , हेपेटाइटिस बी वैक्सीन इत्यादि ठीके लगाना अत्यंत ज़रूरी है , ताकि भविष्य में इन बीमारियों से दूर रहे और तंदुरुस्त रहे।

निष्कर्ष

आशा है आपने प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत बनाने के लिए सारे जानकारी जैसे घरेलु नुश्खे और संतुलित आहार इत्यादि का ज्ञान प्राप्त कर लिया है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार उपर्युक्त आहार और घरेलु नुश्खे को अगर आप रोज़ाना आपने ज़िन्दगी में शामिल करेंगे तो निश्चित रूप से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मज़बूत होगी। हमेशा हमे रोग प्रतिरोधक क्षमता पर ध्यान देना चाहिए ताकि बड़े से बड़े बीमारी में हमारी इम्युनिटी शक्ति उसका मुकाबला कर सके।

Current News Today

Current News Today: Hindi News (हिंदी समाचार) website, Latest News, Breaking News in Hindi of India, World Wide News, Sports, business, film, Health, Fashion, Kids and Current Affairs.

Read Previous

Benefits of Drink Green Tea

Read Next

All you need to know about various forms of Education : Formal , Informal and Non formal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *